7 भारतीय क्रिकेटर और उनके अंधविश्वास, जिन्हें सुनकर उनके प्रशंसक भी हुए क्लीन बोल्ड।

हिंदुस्तान में, क्रिकेट एक खेल नहीं बल्कि एक धर्म माना जाता है। ये एक ऐसा धर्म है जिसे हर वर्ग और हर जाति के लोग मानते है।लेकिन क्या आप जानते है कि भारतीय क्रिकेट के कुछ देवता ऐसे भी है जो अंधविश्वासी है।और वो इन अंधविश्वासी चीज़ों पर इतना यकीन करते हैं की इनके बिना खेल के मैदान में नहीं उतरते। हालांकि, ये लोग इन चीजों पर कितना निर्भर है और ये सब चीजें इनके भाग्य को सवारने में कितना साथ देती है ये एक रहस्य ही है। तो आइये नज़र डालें इनके कुछ विचित्र अंधविश्वासों पर।

1. जहीर खान और “रुमाल”

इस भारतीय तेज गेंदबाज के पास एक भाग्यशाली रुमाल है।ये पीले रंग का है और ये उसे अपने पास रखना अपना सौभाग्य मानते है। वह जब भी मैदान में उतरते है तो यह भाग्यशाली रुमाल हमेशा उनकी जेब में ही होता है।

तेज गेंदबाज ज़हीर खान

 

2. अपने गुरु के लिए सौरव गांगुली का सम्मान

क्रिकेट के बंगाल टाइगर हमेशा अपनी जेब में अपने गुरु की तस्वीर रखने के लिए जाने जाते थे।वह  जब भी मैदान में उतरते थे उनके गुरु हमेशा उनके साथ होते थे।

पूर्व कप्तान सौरव गांगुली

 

3. विराट कोहली का दस्तानों से प्रेम

 

विराट कोहली के पास एक दस्तानों की ऐसी जोड़ी है जो उन्हें बहुत प्रिय है।और वह जब भी खेलने के लिए मैदान में उतरते है तो वह यही विशेष दस्तानों की जोड़ी पहन कर जाते है  क्योंकि उन्हें लगता है कि इन्हें पहनने से वह अपनी टीम के लिए अच्छा स्कोर बनाएंगे।

बल्लेबाज़ विराट कोहली